Mamta Banerjee Biography In Hindi 2021

ममता बनर्जी जीवन परिचय – Mamta Banerjee Biography 

हेल्लो दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले है ममता बनर्जी जीवन परिचय के बारे में ( mamta banerjee biography in hindi) दोस्तों आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़िए आपको ममता बनर्जी के बारे में सारा जानकारी मिलेगा |

पश्चिम बंगाल की वर्तमान मुख्मंत्री और TMC प्रमुख ममता बनर्जी का जन्म एक गरीब निम्न वर्गीय ब्राह्मण परिवार में हुआ था पिता स्वत्रंता सेनानी थे | ममता बनर्जी ने छोटी उम्र में ही इनके पिता चल बसे थे  |

mamta banerjee biography in hindi

ममता बनर्जी ( ममता दीदी ) का सुरुवाती जीवन

इनका जन्म 5 जनवरी 1955 कोलकाता में हुआ था | ममता बनर्जी के पिता का नाम Promileswar Banerjee और माता का नाम Smt. Gayatri Devi थी | ममता बनर्जी जब 9 साल की थी तब इनके पिता का देहांत हो गया था | ममता दीदी स्कूल के दिनों से ही राजनीती से जुड़ गयी | गरीबी से संघर्स करते हुए ममता बनर्जी को दूध बेचने का काम भी करना पड़ा |

ममता बनर्जी की पढाई

ममता बनर्जी की पढाई की बात करे तो इन्होने ने जोगमाया देवी कॉलेज से इतिहास में ऑनर्स की डिग्री प्राप्त की इसके बाद कोलकाता विश्वविद्यालय से इतिहास में इस्लामिक की डिग्री ली और साथ ही ममता बनर्जी ने B.ed भी कर रखी और साथ ही लॉ की भी पढाई की है |

इसे भी पड़े :- Cowin Registration Kaise Kare?

खेला होबे का क्या मतलब होता है हिंदी में जाने 

ममता बनर्जी की राजनीती कहानी

ममता बनर्जी ( दीदी ) पहले कांग्रेस की कार्यकर्त्ता थी फिर 1976 से लेकर 1980 तक महिला कांग्रेस की महासचिव रहीं 80 के मध्य दशक तक ममता राजनीतिक रूप से इतनी मजबूत हो गयी की CPIM के वरिस्ट नेता Somnath Chatterjee को जादोपुर लोक सभा सीट से हरा दिया |

ये ममता बनर्जी के लिए महज एक जीत नही थी ये भविष्य के लिए आहट थी दीदी के शिर पर देश के सबसे युवा सांषद बनने का ताज सजा | ममता बनर्जी का कद बहोत तेजी से बढ़ता जा रहा था पार्टी ने दीदी को अखिल भारतीय युवा कांग्रेस का महासचिव बना दिया लेकिन 80 के दशक के आखिरी साल में जादोपुर लोकसभा सीट से ममता के हिस्से हार आ गयी |

लेकिन हार और जीत से ऊपर की राजनीती में माहिर हो चुकी ममता बनर्जी साल 1991 में फिर से चुनाव जीत कर संषद भवन पहुच गयी | इस जीत के बाद जो शिलशिला चला वो कई लोक सभा चुनाव तक रुका नहीं ममता बनर्जी को हरा पाना किसी के बस की बात नही रह गयी थी |

90 की दशक की सुरुवात में देश के भीतर नए तरीके से शियासी तना- मना बुना जाने लगा था नरसिम्भा राव की सरकार में ममता को कई विभाग में जिमेदारी दी गयी थी खेल विभाग में रहते हुए ममता ने विकाश योजना को सरकार के सामने रखा, सरकार ने बहाल करने से मना कर दिया ये विरोध इतना बढ़ गया की ममता बनर्जी ने इस्तीफा दे दिया |

1996 में केंद्र सरकार में ममता की अच्छी-खासी पकड़ थी लेकिन पेट्रोल की कीमत बढाई गयी तो ममता ने अपनी पार्टी के खिलाप विरोध सुरु कर दिया अब स्तिथि इतनी बिगड़ गयी कांग्रेस को ममता का मोह त्यागना पड़ा | मत-भेद का किला काफी बड़ा हो गया था कांग्रेस पार्टी पर ममता का आरोप था की पार्टी बंगाल में वाम दलों की कठपुतली बन गयी है |

अब तक ममता का मन नयी पार्टी बनाने को लेकर बहोत आगे बढ़ गया था देश में नयी पार्टी तृणमूल कांग्रेस (TMC) की स्थापना हुयी | खुद ममता बनर्जी पार्टी की अध्यक्ष बनी इस फेसले में ममता के हिस्से दिक्कत और दुविधा दोनों लेकर आई लेकिन कम समय में ही बंगाल की साम्यवादी सरकार के लिए ममता बनर्जी चुनोती का नाम बन गयी |

Mamta Banerjee Biography In Hindi

Bio 
कामराजनीती
राजनीती पार्टीतृणमूल कांग्रेस (TMC)
हाइट5 फूट 4 इंच
वेट59 KG
आँख कलरHazel Brown
जन्म तिथि5 जनवरी 1955
उम्र66 वर्ष
राष्ट्रीयताइंडियन
स्कूलDeshbandhu Sishu Sikshalaya
कॉलेजJogamaya Devi College
योग्यताB.A History (Honours)
M.A Islamic History
पिताप्रोमिलेस्वर बनर्जी
मातागायेत्री देवी
कास्टब्राह्मण
हॉबीपेंटिंग, वाल्किंग
वेवाहिक स्तिथिअविवाहित
पतिनही

Conclusion 

दोस्तों हमें उमीद है की आपको mamta banerjee biography in hindi ममता बनर्जी जीवन परिचय के बारे में पता चल गया होगा अगर दोस्तों आपको किसी भी पॉइंट में दिक्कत आ रही हो तो आप हमें बता सकते है हम आपके comment को रिप्लाई करने की कोसिस करेंगे |

Leave a Comment