अपनी औकात में रहकर सर्च करें | Yadav Ko Kabu Mein Kaise Karen

Yadav Ko Kabu Mein Kaise Karen: अगर तेरा दिल में यादव को काबू करने का ख्याल है, तो आप गलत फेमि में जी रहे है और इस ख्याल को तू दिल से निकाल दे क्योकि इस जन्म में तुमसे ऐ हो पाना नामुमकिन है फिर भी आप लोग ऐ जिद्द रखते है तो हाथ रगड़ कर मर जायेगा फिर भी ऐ मुमकिन हो पाना असम्भव है यकीन न हो तो हिस्ट्री उठा कर देखलो |

Yadav Ko Kabu Mein Kaise Karen

अपना औकात में रहकर सर्च करें | Yadav Ko Kabu Me Kaise Karen

Yadav Ko Kabu Mein Kaise Karen: यादव को काबू कैसे करें ,यादव को कंट्रोल कैसे करें (Yadav Ko Control Kaise Kare) और फिर भी यादव को काबू में कैसे करें कर रहे है तो बालक अपनी औकात देख ले अगर तेरा दिल में यादव को काबू करने का ख्याल है तो आप गलत फेमि में जी रहे है और तेरे दिमाग में जो ऐ ख्याल चल रहा है की यादव को काबू में कैसे करे तो ऐ ख्याल अपने दिमाग से निकाल दो , वरना कोई यादव कूट कर ठोक कर चले जायेगा |

यादव को काबू कैसे करें | Yadav Ko Control Kaise Kare

अगर आप गूगल पर यादव को काबू कैसे करे (Yadav Ko Kabu Mein Kaise Karen) सर्च कर रहे हैं तो मेरी एक बात मान सर्च मत कर वरना कोई यदुवाशी कुल का आएगा और ठोक कर चले जायेगा और आपकी ऐ सर्च धरी की धरी रह जाएगी | यादव को काबू कैसे, करे सर्च करता है तो पक्का दुश्मनों की महफ़िल में कदम रखने जैसा होगा |

Yadav Ka Itihash | यादव का इतिहास | Yadav Ko Control Kaise Kare

Yadav Ko Kabu Mein Kaise Karen:आज हम ऐ वंश के बारे बात करने जा रहे है जिसे जाती नहीं संसकृति कहना चाहिए यादवो का इतिहास भगवान विष्णु ऋषि यत्री चन्द्रमा बुध इत्यादि से संबंध है और जिक्र वेदों और पुरानो मिलता है यूरोपियन वंश जो स्थान ग्रीकवर लोगो का है वही भारत इतिहास में यादवो का | यादव हमेशा प्रकार्मी और स्वत्रंता प्रिय जाती है | यादव को यदुवंशी और अहीर के नाम जाना जाता है यादव यदुवंशी का अर्थ है |

महाराज यदु के वंशज है इन्ही ही से यदुवंशी शब्द का जन्म हुआ था | ठीक उसी तरह अहीर शब्द अभीर का पिछड़ा रूप है जिसका अर्थ है निडर यादव समाज के 423 नाम से ज्यदा उपनाम है और इसे उतर भारत के में अहीर और यादव के नाम से जाना जाता है | दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, उपी में इसे राव साहब के नाम से जाना जाता है |

हरियाणा राज्य का नाम अहीर के नाम पर पड़ा है हरियाणा का नाम दो शब्दों से मिल कर बना है HARI + ANA यहाँ पर हरी शब्द का अर्थ है विष्णु ,भगवान श्रीकृष्ण और ANA का अर्थ है वहा आये , तो महाभारत के समय विष्णु भगवान इस स्थान पर आये थे इस लिए इस राज्य का नाम हरियाणा पड़ा |

Yadav Ahir Ko Kabu Mein Kaise Karen | Yadav को काबू में कैसे करें

Yadav Ko Kabu Mein Kaise Karen: भगवान श्रीकृष्ण ने अहीर वंश में जम लिया था पहले इसे ABHIR +ANA बोला जाता था और समय के बदलाव के साथ इसमे हुआ और इसका नाम हरियाणा बन गया | भारत का कुल आबादी का 22 % जन्संखिया का है भारत यादव वंश के लोग 12.7 % व्यपार करते है |

भारत के आलावा नेपाल , श्रीलंका, पाकिस्तान, बांग्लादेश, रूस और मध्य एशिया में पाया जाता है और मोजूद है इस लिए पुरे विश्व के सबसे बड़ी इतिहास के सबसे बड़ी जाती कही जाती है देश के आबादी के आलावा देश के राजनीति, अर्थशास्त्र, इतिहास, साइंस, सैन्य,खगोलशास्त्र और ज्योतिषी में भी बहुत बड़ा योगदान दिया है |

Yadav Ko Apne Kabu Mein Kaise Karen | Yadav Ko Kabu Mein Kaise Rakhen

Yadav Ko Control Kaise Kare: यादव को हिन्दू वर्ग में क्षत्रिय वश की दर्जा प्रदान की गई है और वंश में अनेक शूरवीर और अनेक चक्र्वीर रजा ने जन्म लिया है इन्होने अपने बुद्धि बल कोशला से अनेक साम्राज्य का स्थापना किया और अनेक वर्षो तक शासन किया भारत और नेपाल में उनमे से कुछ इस प्रकार है |

Yadav Dynasty जिसे शिव यादव डायनेस्टी के नाम से भी जाना जाता है और ऐ एक साही डायनेस्टी से प्रसिद्ध है जिसने अपने चरम पर तुगभद्रा से नर्मदा नदी तक फेले एक साम्राज्य पर शासन किया जिसमे वर्त्तमान में महाराष्ट्रा, उतर कर्णाटक, मध्य पर्देश कुछ हिस्से सामिल है |

यादव को काबू कैसे करें | Yadav Ko Control Kaise Kare

Yadav Ko Kabu Mein Kaise Karen: यादव वंश की राजधानी देवगिरी था जो आज महाराष्ट्रा में उपस्थित है जम्मू कश्मीर के अभिसार में भी यादव का ही शासन था जिसका राज्य झेलम और चिनाब नदी के मध्य था जिसे वर्तमान में जम्मू कश्मीर में पूँछ ,राजौरी नवशेरा से जाना जाता है यादवो के दर्जनों से ज्यदा साम्राज्यों से जाना जाता है और अनके सदियों शासन के वंश आज भी मोजूद है और उनके दुवारा प्राचीन धरोहर और साम्राज्यों का अवशेस पाया जाता है दक्षिण भारत के कई प्राचीन मंद्रियो का निर्माण यादव वंश ने किए है |

Yadav Ko Control Kaise Kare :यादव के राजवंश के विक्रमशिला और नालंदा विश्व विदयालय की भी स्थापना किया है प्राचीन राजावो में सेनापति का पद अहिरो के लिए उपस्थित है | आजादी के आन्दोलन और सेन्य सेनिक में यादवो ने अहम् भूमिका निभाई है और कई तो मात्र भूमि में सहीद हो गए | 18 नवम्बर 1857 को सवतंत्र क्रांति के प्रमुख्य नायक रेवाड़ी नरेश राजा ने राजा राव तुला ने नाल्दों हरियाण में जनरल गोराल ड्रम में जम कर टक्कर दी और इस युद्ध के दोरान राज गोपाल श्रीकृष्ण ने घोड़े से छति पर वार के जनरल की सर धड से अगल कर दिया | और आन्दोलन को गति प्रदान की |

18 नवम्बर 1962 को भारत चीन यूद्ध के दोरान यादव सेनिको का प्रकारम और बलिदान आज तक सबसे ज्यदा माना जाता है जिन्होंने अपने जान डेक कर देश की आत्म सामान और गोरव साली रखा गया है तब ऐ हुआ की किसी विरोधी देश के सेनिक ने किसी देश के सेनिको की तारीफ की हो |

13 कुमोव रेजिमेंट जिसका दूसरा नाम वीर अहीर भी है 114 सेनिक मार के वीर गति प्राप्त हुवे थे वे चीन के 1300 सेनिक से ज्यदा सेनिक मार गिराए थे और इन्ही यादव के यादवीरो की याद और सामान में एक समरक बनाया गया है और इसमें सभी वीरो के नाम को लिखा गया है |

Q. Yadav Ko Kabu Mein Kaise Karen ?

Ans. Yadav Ko Kabu Mein Kaise Karen: अगर तेरा दिल में यादव को काबू करने का ख्याल है, तो आप गलत फेमि में जी रहे है और इस ख्याल को तू दिल से निकाल दे क्योकि इस जन्म में तुमसे ऐ हो पाना नामुमकिन है |

Leave a Comment